ANNOUNCEMENTS



Friday, February 26, 2016

मध्यस्थ वस्तु और मध्यस्थ क्रिया

"सत्ता मध्यस्थ वस्तु है.  पारगामी, पारदर्शी और व्यापक स्वरूप में सत्ता प्रस्तुत है.  सत्ता सम और विषम प्रभावों से मुक्त है.

मध्यस्थ क्रिया सम और विषम प्रभावों को नियंत्रित करता है.  सत्ता कोई नियंत्रण नहीं करता, जबकि मध्यस्थ क्रिया  नियंत्रण करता है." - श्री ए नागराज


"The Omnipotence (Space) is the Central Reality - that is present as Permeating, Transparent and Omnipresent, unaffected from Constructive or Destructive influences.

It is the Central Activity (as nuclei of atoms) which restrains (controls) the Constructive and Destructive influences.  The Omnipotence does not control, while Central Activity controls (for the Purpose of Harmony)." - Shree A. Nagraj

No comments: