ANNOUNCEMENTS



Thursday, December 24, 2015

The Authority of Liberation from Pain

"पीड़ा कोई समाधान नहीं है, पीड़ा की अभिव्यक्ति बच्चे भी करते हैं.  पीड़ा से मुक्त होने और कराने के अधिकार संपन्न होने से ही वह दूर होता है." - श्री ए नागराज

"Articulation of pain is no resolution.  Even children could express their pain.  The eradication of pain happens only upon achieving the authority of liberating oneself and others from it." - Shree A. Nagraj

No comments: