ANNOUNCEMENTS



Tuesday, December 29, 2015

ज्ञानगोचर - इन्द्रियगोचर

"मध्यस्थ गुण, स्वभाव एवं धर्म ज्ञानगोचर है.  ज्ञानगोचर विधि से स्पष्ट होना ही साक्षात्कार है.  दूसरे शब्दों में वस्तुओं का सह-अस्तित्व में प्रयोजन स्पष्ट होना ही साक्षात्कार है.  रूप एवं सम-विषम गुण इन्द्रियगोचर हैं." - श्री ए नागराज
 

No comments: